किसानों को फसल बीमा वितरित करने और साधने के लिए मोदी जी का मध्य प्रदेश आना

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव नवंबर में होने जा रहे हैं। भाजपा किसानों का साथ पाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। अब इन्हें साधने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्य प्रदेश आएंगे।

किसान महासम्मेलन का होना
जून में किसान महासम्मेलन प्रस्तावित किया जा रहा है। इसमें वे किसानों के खातों में फसल बीमा के तीन हजार करोड़ रुपये अंतरित करने की शुरुआत करेंगे। इसी के चलते कांग्रेस 230 सदस्यीय विधानसभा में 114 सीटें जीती थी।

वोट बैंक है किसान
दरअसल किसान बड़ा वोट बैंक हैं। पार्टी ने इस बार भी किसानों को ऋण माफी का वचन दिया है। रबी और खरीफ की फसलें वर्ष 2021-22 में अतिवृष्टि के कारण प्रभावित हुई थीं। सरकार ने उक्त वर्ष में न्यूनतम एक हजार रुपये का बीमा देने का प्रविधान किया था। इसके कारण 44 लाख किसानों ने बीमा कराया। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि लगभग तीन हजार करोड़ रुपये के बीमा दावे मंजूर हुए हैं। अब बीमा की राशि किसानों के खातों में अंतरित की जानी है। इसके लिए मुख्यमंत्री कार्यालय को प्रस्ताव भेजा गया है।

ब्याज माफी का निर्णय
सरकार चुनावी वर्ष में किसानों को साधने के लिए बड़ा कार्यक्रम करना चाहती है। साथ ही, राज्य सरकार ने हाल ही में 11.9 लाख किसानों की 2,123 करोड़ रुपये की ब्याज माफी देने का निर्णय लिया है। यह इस दृष्टि से बड़ा कदम है कि ब्याज माफी से इन किसानों को जून से सहकारी समितियों से खाद-बीज मिलने लगेगा जो अपात्र होने के कारण बंद हो गया था। राज्य सरकार प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ भी 15 लाख से अधिक किसानों को देने जा रही है। कुछ अन्य योजनाओं की घोषणा की भी तैयारी है। यह मध्य प्रदेश के किसानों को साधने की कोशिश ही नहीं बल्कि देशभर के किसानों को एक अच्छा संदेश दिया जा सकेगा।